श्रीमती वसुंधरा राजे
माननीया मुख्यमंत्री राजस्थान

श्री बाबू लाल वर्मा
माननीय खाद्य मंत्री राजस्थान

तहसील एवं उपखण्ड मुख्या‍लय पर पदस्थापित प्रवर्तन कर्मियो को पाबंद किये जाने के संबंध मे कार्यालय आदेश  23/03/2017

केरोसीन ब्लू डाईड (सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अर्न्तगत) की विक्रय दर के संबंध में अधिसूचना  23/03/2017

रबी वर्ष 2017-18 में समर्थन मूल्य पर विभिन्न जिन्सों की खरीद के संचालन हेतु दलो के गठन आदेश  21/03/2017

Nodal Officer for RMS 2017-18 of Wheat procurement  10/03/2017

RMS 2017-18 of MSP purchase center list  10/03/2017

केरोसीन आवंटन आदेश माह मार्च 2017  10/03/2017

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के क्रियान्व यन को मॉनीटर करने और उसका पुनर्विलोकन करने के प्रयोजन के लिये राजस्थायन खादय आयोग के गठन की अधिसूचना दिनांक 10.03.2017  10/03/2017

Regarding inviting applications for filling up of Deputy Commissioner (S&R) and Director, IGMRI post  10/03/2017

आवंटन आदेश माह अप्रेल से जून 2017 (राष्‍टीय खाद्य सुरक्षा योजनान्‍तर्गत)  07/03/2017

Uniform Specification of Wheat and Barley for RMS 2017-18  07/03/2017

अधिक देखे

एक ही क्‍वालिटी व क्‍वांटिटी वाली वस्तु की दो एमआरपी नहीं हो सकती  13/02/2017

उपभोक्ता‍ओ की समस्या्ओ का समयबद्ध ढंग से राहत दिलाने मे प्रभावी भूमिका  13/02/2017

गुजरात के बाद अब राजस्थान में भी मिलेगा सिर्फ फोर्टीफाईड खाद्य तेल  03/10/2016

5000 अन्नपूर्णा भण्डार का लक्ष्य अर्जित करने पर मुख्यमंत्री ने दी बधाई  02/10/2016

चीनी वितरण की डोर-स्टेप डिलीवरी  01/10/2016

गेहूं के साथ-साथ चीनी एवं केरोसीन वितरण भी पोस मशीन के माध्यम से ही किया जाना सुनिश्चित करें  30/09/2016

आमजन व व्यापारियों को बाट माप संबंधी कार्य सुविधा के लिए नई व्यवस्था  29/09/2016

उद्योग विभाग के अधिकारी आवंटित वार्षिक सीलें एक अक्टूबर 2016 को उधोग विभाग में जमा कराना सुनिश्चित करें  28/09/2016

उपभोक्ताओं को चीनी वितरण का रास्ता खुला  26/09/2016

उचित मूल्य की दुकानों पर मसलें भी होंगे उपलब्ध 26/09/1016  26/09/2016

अधिक देखे

अवलोकन

राज्य में वर्ष 1964 तक खाद्य एवं सहायता विभाग एक संयुक्त विभाग के रूप में कार्यरत रहे। वर्ष 1964 से सहायता विभाग से अलग होकर खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग पृथक से अस्तित्व में आया। वर्ष 1987 से विभाग द्वारा उपभोक्ता संरक्षण से सम्बंधित कार्य भी संपादित किए जा रहे हैं। दिनांक 21 जून 2001 को विभाग का नाम ‘खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले’ विभाग किया गया।

 

इस विभाग की स्थापना सार्वजनिक वितरण प्रणाली का प्रबंध करने और उचित मूल्यों पर खाद्यान्नों का वितरण करने के लिए तैयार की गयी थी। पिछले कुछ वर्षों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली देश में खाद्य अर्थव्यवस्था के प्रबंधन के लिए सरकार की नीति का महत्वपूर्ण अंग बन गई है। इसके अंतर्गत केन्द्र सरकार ने भारतीय खाद्यनिगम के माध्यम से खाद्यान्नों की खरीद, भंडारण, ढुलाई और बल्क आवंटन करने की जिम्मेदारी ले रखी है। राज्य के अंदर आवंटन, गरीबी रेखा से नीचे के परिवार की पहचान करने, राशन कार्ड जारी करने और उचित मूल्य दुकानों के कार्यकरण का पर्यवेक्षण करने सहित प्रचलनात्मक जिम्मेदारी खाद्य विभाग की है।
क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान देश का सबसे बड़ा राज्य है। विषम भौगोलिक परिस्थितियों के इस प्रदेश में अधिकांश भाग रेगिस्तानी और कम वर्षा वाला है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य की जनसंख्या 686.21 लाख है। इस जनसंख्या में 515.40 लाख ग्रामीण और 170.81 लाख शहरी क्षेत्र की जनसंख्या सम्मिलित है।


लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली

Video Gallery
Contents owned and maintained by Department of Food and Civil Supplies Department(Rajasthan)
Designed,Developed and Hosted by National Informatics Centre

             नवीनीकृत दिनांक : 24/03/2017