उपभोक्ता जागरूकता

 

उपभोक्ता हितों को सर्वोपरी रखते हुए राज्य में उपभोक्ता जागरूकता की दिशा में आरंभ से ही महत्वपूर्ण प्रयास किए जा रहे हैं। ‘जागरूक उपभोक्ता, सुरक्षित उपभोक्ता’ के साथ ही उपभोक्ता शिक्षा की दिशा में प्रभावी वातावरण निर्माण किए जाने के लिए राज्य में उपभोक्ता सूचना केन्द्रों की जहां पहल की गयी है वहीं राज्य आयोग की सर्किट बैंच की स्थापना भी की गयी है। राज्य के प्रमुख मेलों में उपभोक्ता जागृति कार्यक्रम संबंधी विषेष आयोजनों के साथ ही उपभोक्ता जागरूकता के लिए किए जा रहे प्रयास इस प्रकार से है-

 
उपभोक्ता जागरूकता हेतु किए जा रहे महत्वपूर्ण प्रयास
क्रम स. राज्य सरकार के प्रयास
1.

जिला उपभोक्ता सूचना केंद्र

2.

राज्य आयोग की सर्किट बैंच की स्थापना

3.

उपभोक्ता निदेशालय

4.

राज्य में अतिरिक्त जिला उपभोक्ता मंचों का गठन

 
जिला उपभोक्ता सूचना केंद्र

वर्तमान युग सूचना का युग है। उपभोक्ताओं को उनके अधिकारों के संबंध में अधिक से अधिक जानकारी उपलब्ध कराने से ही उपभोक्ता आन्दोलन को सफल कहा जा सकता है। जागरुक उपभोक्ता सजग और सुरक्षित बन सकता है। अतः राज्य के सभी जिलों में उपभोक्ता सूचना एवं परामर्श केंद्र स्थापित किए जावेंगे। इन केंद्रों पर उपभोक्ताओं को उनके उपयोग की सूचनाऐं एवं उपभोक्ता कानून से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध होगी। आगामी महिनों में इस योजना को क्रियान्वित कर दिया जायेगा।



राज्य आयोग की सर्किट बैंच की स्थापना

माननीय मुख्य‍मंत्री महोदय की बजट घोषणा वर्ष 2012-13 के अनुसरण में अजमेर एवं भरतपुर में भी राज्य उपभोक्ता आयोग की सर्किट बैंच स्थापित किए जाने के आदेश विभागीय स्तर से दिनांक 18.05.2012 को जारी किये जा चुके हैं। इस प्रकार राज्य के सभी संभाग जिला मुख्यालय जयपुर, अजमेर, बीकानेर, भरतपुर, कोटा, जौधपुर एवं उदयपुर पर राज्य उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग की सर्किट बैंच का गठन कर दिया गया है।




उपभोक्ता निदेशालय

राज्य् विधान सभा में दिनांक 19.01.2004 को महामहिम राज्यपाल महोदय के अभिभाषण में उपभोक्ता निदेशालय का गठन प्रस्तावित किया गया था। बाद में 09.03.2007 को मुख्यंमंत्री द्वारा बजट भाषण में भी इस हेतु घोषणा की गयी। इसकी अनुपालना में निदेशक, उपभोक्ता मामले का प्रभार अतिरिक्त आयुक्तो खाद्य को (As ex officio Director) नियुक्तम किया गया। निदेशालय के पूर्ण गठन की तत्सम्बन्धी अन्य कार्यवाही अभी होनी शेष है।




राज्य में अतिरिक्त जिला उपभोक्ता मंचों का गठन

उपभोक्ताओं को त्वरित न्याय दिलाने की दृष्टि से राज्य सरकार द्वारा जयपुर जिले में 2 एवं जोधपुर जिले में 1 अतिरिक्त जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष मंचों का गठन किया गया है, जिसके सन्दर्भ में विभागीय स्तर से दिनांक 26.11.2011 को अधिसूचना जारी की जा चुकी है। उक्त नवगठित जिला उपभोक्ता मंचों में अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्ति की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है।




नवीनीकृत दिनांक:22/09/2017
Contents owned and maintained by department of Food and Civil Supplies Department(Rajasthan)
Designed,Developed and Hosted by National Informatics Centre